कुत्तों में dehydration क्या होता है?

जब एक कुत्ते का शरीर सामान्य पानी के सेवन की तुलना में अधिक पानी खोता है तब शरीर, कोशिकाओं से पानी लेकर समझौता करता है जिसके कारण शरीर में potassium, chloride और sodium जैसे electrolytes की कमी हो जाती है। Electrolytes में कमी शरीर के कई कार्यों पर प्रभाव डाल सकती है जिसमें मांसपेशियों का कार्य भी सम्मिलित है। 

Electrolytes शरीर के निम्नलिखित कार्यों में सहायता के लिए महत्तवपूर्ण होते हैं:

  • शरीर का pH स्तर संतुलित करना।
  • कोशिकाओं में पोषक तत्व पहुँचाना।
  • मांसपेशियों की कार्य क्षमता बनाए रखना।
  • तंत्रिका तंत्र की कार्य क्षमता को बनाए रखना।

कुत्तों में dehydration, अंगो और ऊतकों में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी कम कर देता है।

कुत्तों में dehydration के सबसे गंभीर मामलों में, तरल पदार्थों की गंभीर कमी के कारण गुर्दे और दूसरे अंग खराब भी हो सकते हैं और मृत्यु भी हो सकती है।

कुत्तों में dehydration के कारण:

कुत्तों में dehydration के कारण निम्नलिखित हैं:

  • भोजन के सेवन में कमी या अभाव
  • पानी के सेवन में कमी या अभाव
  • अत्यधिक हांफना या सांस लेना
  • दस्त
  • उल्टी
  • तेज बुखार
  • पंजे या शरीर के दूसरे हिस्सों से पसीना आना
  • गुर्दे की बीमारी
  • मधुमेह (diabetes)

कुत्तों में dehydration के लक्षण:

कुत्तों में dehydration के लक्षण हैं:

  • अत्यधिक हांफना
  • उच्च दर से सांस लेना
  • शुष्क नाक, मुंह और मसूड़े
  • चिपचिपी झिल्ली
  • सुस्त दिखना
  • धीमी प्रतिक्रियाएं
  • चेतना का बदलता स्तर
  • डूबी हुई या शुष्क आंखें
  • निष्क्रिय नेत्रपटल
  • त्वचा के लचीलेपन में कमी
  • सफेद मसूड़े
  • संतुलन बिगड़ना
  • भूख ना लगना
  • कमजोर नब्ज
  • उच्च ह्रदय गति (140 से ऊपर)
  • मूत्र में कमी
  • मूत्र का गहरा रंग
  • मूत्र में गंध का बढ़ना

कुत्तों में dehydration को पहचानना:

कुत्तों में dehydration को नापने के लिए निम्नलिखित जांच की जा सकती है:

पहली जांच : त्वचा के लचीलेपन की जांच: कुत्ते के कंधे के बीच की त्वचा को दो उंगलियों से पकड़ें और लगभग दो इंच तक ऊपर उठाएं। जैसे ही आप त्वचा को छोड़ते हैं, इसे तुरंत पहले की तरह हो जाना चाहिए। यदि त्वचा तुरंत पहले के जैसे नहीं होती है तो इसका मतलब है कि कुत्ते को dehydration है और कुत्ते की त्वचा में लचीलेपन की कमी है।

दूसरी जांच: मसूड़े के रंग की जांच: dehydration की जांच करने का दूसरा तरीका है कि केशिका के दोबारा भरने के समय के लिए अपने कुत्ते के मसूड़ों की जांच करें। कुत्ते के होंठ को ऊपर उठाएं और कुत्ते के मसूड़े को अपनी उंगली से दबाएं और देखें कि मसूड़े का रंग गुलाबी से सफेद हो गया है। जब मसूड़े का रंग सफेद हो जाए तो अपनी उंगली हटा लें और ध्यान दें कि इसे वापस गुलाबी होने में कितना समय लगता है। यदि इसे वापस गुलाबी होने में 3-4 सेकंड लगते है तो इसका मतलब है कि कुत्ते को dehydration है।

कुत्तों में dehydration का उपचार:

Rehydration के तरीके पर निर्णय लेने से पहले, पशु चिकित्सक को कुत्ते में dehydration के स्तर की जांच करने की आवश्यकता होगी।

यदि कुत्ते को हल्का dehydration है, तो कुत्ता पुनः पानी पी सकता है और अपने आपको आसानी से rehydrate कर सकता है।

यदि कुत्ते में गंभीर रूप से dehydration है तो हो सकता है कि कुत्ता खुद से पानी पीने मे सक्षम ना हो।

कुत्ते को एक catheter के माध्यम से दिए गए IV तरल पदार्थों के द्वारा rehydration करने की आवश्यकता होगी। यह प्रक्रिया पशु चिकित्सक की देख रेख में चिकित्सालय में की जाएगी।

Dehydration का उपचार ना किया जाए तो इसके कारण सदमा, बीमारी हो सकती है और इसका परिणाम मृत्यु हो सकता है।

कुत्तों में dehydration होने  से कैसे रोका जाए?

आपके कुत्तों में dehydration रोकने के लिए उपाय निम्नलिखित हैं:

  • घर पर अक्सर साफ पानी दें।
  • जब बाहर का तापमान अधिक हो तो बाहर जाने से बचें।
  • लंबी सैर से बचें, यदि आप अपने कुत्ते के साथ लंबी पैदल यात्रा पर जा रहे हैं तो अपने साथ पानी का कटोरा और साफ पानी लेकर जाएं।
  • ऐसा भोजन दें जिसमें पानी की मात्रा अधिक हो, जैसे कि सब्जियों का शोरबा इत्यादि।
  • पानी की प्रचुर मात्रा वाला फल दें। ( फलों की सूची जो कुत्ते खा सकते या नहीं खा सकते)
  • यदि आपका कुत्ता लंबे समय से पानी नहीं पी रहा है तो तुरंत अपने पशु चिकित्सक से संपर्क करें।

कुत्ते पानी के बिना कितने लंबे समय तक रह सकते हैं?

एक प्रभावी नियम के अनुसार, कुत्तों को लगभग प्रतिदिन उनके शरीर के वज़न के प्रति किलो ग्राम के लिए 50 से 60ml पानी पीना चाहिए।