दस्त क्या है?

दस्त, बार बार ढीले मल के साथ मल त्याग करना होता है। कुत्तों में दस्त एक सामान्य समस्या है और आमतौर पर तीन से चार बार मल त्याग करने के बाद बेहतर हो जाता है।

दस्त अंतर्निहित रोगों के कारण हो सकता है जो कि खाद्य विषायन से लेकर कैंसर तक हो सकता है।

कुत्तों में दस्त के कारण?

निम्नलिखित कारण, कुत्ते के दस्त की वजह है सकते है:

  • आहार में बदलाव
  • खाने की असहनीयता
  • खाने से एलर्जी
  • परजीवी
  • विषैला भोजन या पौधे
  • आंतों का काला पड़ना
  • संक्रमण
  • जीवाणु संक्रमण
  • बीमारी
  • एंटीबायोटिक्स और दूसरी दवाएं
  • तनाव या भावनात्मक परेशानी

चिकित्सक के पास कब जाएं?

हर कुत्ते को अपने जीवनकाल में दस्त की समस्या से गुजरना पड़ता है लेकिन आवश्यक बात यह है कि कुत्ते के मालिक को लक्षणों और संकेतो की जानकारी होनी चाहिए जो कि पशु चिकित्सक से संपर्क करने के लिए काफी है ताकि किसी गंभीर समस्या से बचा जा सके।

दस्त के क्या लक्षण होते हैं?

चेतावनी संकेत:

  • 48 घंटो से अधिक समय तक दस्त
  • काले रंग का मल या खूनी दस्त
  • भूख में कमी
  • सुस्ती
  • उल्टी
  • बुखार
  • शरीर में पानी की कमी
  • अत्यधिक डोलना
  • हांफना
  • कहराना
  • सूजन
  • पेट में दर्द
  • यदि आप ऊपर दिए गए किसी भी लक्षण को देखते है, तो आपको तुरंत एक पशु चिकित्सक से संपर्क करने की आवश्यकता है।

दस्त के कारणों के बारे में कैसे पता करें?

दस्त के कारण को जानने के लिए, दस्त की प्रकृति के बारे मे जानना चाहिए:

  • मल का रंग
  • मल की गंध
  • मल की आवृत्ति
  • मल की प्रकृति को समझने के बाद डॉक्टर दस्त के सही कारण को निर्धारित करने के लिए संभवतः एक या अधिक जांच के परीक्षणों का चयन करेंगे।

जांच के लिए परीक्षण हो सकते हैं:

  • मल का माइक्रोस्कोप से परीक्षण
  • Barium के साथ या बिना X-rays
  • ख़ून की जांच
  • मल का प्रकार
  • Endoscopy
  • अल्ट्रासाउंड
  • दूसरे परीक्षण

दस्त को कैसे रोकें?

वयस्क और स्वस्थ कुत्तों के लिए, हो सकता है पशु चिकित्सक पहली बार में जांच के लिए परीक्षण की सलाह ना दें।

पशु चिकित्सक एक पहल के लिए परामर्श दे सकते है जिसमे घरेलू उपचार किया जा सकता है। घरेलू उपचार के कुछ मुख्य उपाय निम्नलिखित है:

  • नर्म भोजन दें जैसे कि उबले चावल, नर्म चिकन या उबले हुए नर्म आलू।
  • थोडी थोडी मात्रा में लेकिन नियमित रूप से खिलाएं।
  • कुत्ते को हाइड्रेटेड रखने के लिए नियमित रूप से पानी देते रहें।
  • आंतों को आराम देने के लिए प्रिबायोटिक फाइबर दें।
  • कुत्ता खाने को 12 से 24 घंटे तक पेट में रखने में सक्षम होना चाहिए।
  • अगर यह कदम सहायक होता है तो कुत्ते के मल की बनावट बेहतर होगी और वापस सामान्य हो जाएगी। कुत्ते के दस्त के लक्षण ठीक होने के बाद कुत्ते को फिर से उसका सामान्य भोजन दिया जा सकता है।

कुत्ते के लिए नीचे दिए गए उपाय किए जाने चाहिए जिससे ना दस्त हो ना ही उल्टी:

  • कुत्ते को हाइड्रेटेड रखने के लिए नियमित रूप से उसे पीने के लिए साफ पानी देते रहें।
  • कुत्ते को नर्म भोजन दे लेकिन थोड़ी थोड़ी मात्रा में, एक नियमित समय अंतराल में।
  • नर्म भोजन में मसला हुआ कद्दू, मसला हुआ उबला आलू, उबला हुआ नर्म चिकन, उबले चावल आदि दे सकते हैं।
  • अगर कुत्ता भोजन को 12 से 24 घंटे तक पेट में रख पाने में सक्षम नहीं है और दस्त जारी रहते है तो पशु चिकित्सक से परामर्श लेने की आवश्यकता है।

नीचे दिए गए उपाय करें अगर उल्टी के साथ दस्त नहीं हो:

  • 8 से 12 घंटे तक खाना ना दें।
  • कुत्ते को हाइड्रेटेड रखने के लिए नियमित रूप से उसे पीने के लिए साफ पानी देते रहें।
  • जब कुत्ता 10-12 घंटे तक उल्टी ना करे तो उसे थोड़ी मात्रा में उबला व नर्म भोजन दें।
  • अगर कुत्ता 2-3 घंटे तक खाना रखने में सक्षम है और उल्टी नहीं करता है तो उसे थोड़ा खाना दें।
  • इस दिनचर्या को 1 से 2 दिन तक जारी रखें।
  • यदि डायरिया 24 घंटे से अधिक समय तक जारी रहता है तो पशु चिकित्सक से परामर्श लें।

डायरिया को कैसे रोकें?

  • कुत्ते के आहार में अचानक बदलाव ना करें।
  • नया आहार धीरे धीरे देना शुरू करें
  • कुत्ते को हड्डियां ना दे।
  • कुत्ते को ऐसी छोटी चीजें नहीं दें जो निगली जा सके और आंत में रुकावट का कारण बनें।
  • अपने कुत्ते को कुछ भी खाने ना दें।
  • आपका कुत्ता क्या खा रहा है इस पर नजर रखें।
  • अपने कुत्ते को समय पर नहलाएं।

कुत्तों में डायरिया के लिए घरेलू उपचार:

1.अपने कुत्ते को हाइड्रेटेड रखें

डायरिया में कुत्ता बहुत अधिक पानी खो देता है और पानी की बहुत अधिक कमी से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। आपको अपने कुत्ते को अक्सर पानी देते रहना चाहिए, अगर वह पीने के लिए मना करता है तो उसे पानी की प्रचुर मात्रा वाला भोजन दें यानी पानी में चावल या चिकन शोरबा। अगर वह खाने से मना कर देता है तो उसे आपके हाथ से चाटने के लिए बर्फ का टुकड़ा दें। पानी के सेवन का कोई भी तरीका, आपके कुत्ते के डिहाइड्रेशन के लिए लाभकारी होगा।

2. कद्दू दें

कद्दू आंत में फाइबर बढ़ाने में सहायक होता है और डायरिया में लाभकारी होता है।

3. नर्म आहार दें

अपने कुत्ते को नर्म खाना खिलाएं जैसे उबले आलू, चावल के साथ नर्म चिकन या चावल के साथ पानी आदि। जब तक कुत्ता खाने को थोड़ी देर तक रखना शुरू करे, नियमित रूप से खाना थोड़ी मात्रा में देना जारी रखे। धीरे धीरे कुत्ते को सामान्य भोजन देना शुरू करें जैसे जैसे मल - मूत्र की बनावट सामान्य होने लगे।

4. अच्छा बैक्टीरिया दें (प्रोबायोटिक्स / प्रीबायोटिक्स)

उसकी आंत में अच्छे बैक्टीरिया जाने दें ताकि अच्छे बैक्टीरिया आंत को सही कर सकें और पाचन तंत्र के सामान्य कामकाज को वापस ला सकें। प्राकृतिक दही जैसे प्रोबायोटिक्स एक अच्छा उदाहरण है। अपने कुत्तों के लिए चीनी आधारित प्रोबायोटिक्स से बचें।

मैं आपके कुत्ते के दैनिक भोजन में एक प्रोबायोटिक पूर्ति जोड़ने की अत्यधिक सलाह देता हूं। कुत्ते के दैनिक जीवन में प्रीबायोटिक्स एक बड़ा अंतर बनाता है।